The Cover Logo

महाराष्ट्र : 'लव जिहाद' का मामला बताकर अंतर्धार्मिक विवाह का विरोध, समारोह को किया गया रद्द !

News Editor Thursday 15th of July 2021 at 04:28:28 PM India
महाराष्ट्र : 'लव जिहाद' का मामला बताकर अंतर्धार्मिक विवाह का विरोध, समारोह को किया गया रद्द !

शादी का कार्ड लीक होने पर हुआ सारा बवाल !

येह घटना महाराष्ट्र के नासिक की हैजहा हिंदू महिला और मुस्लिम युवक की शादी का जश्न मनाने के लिए एक  पारिवारिक समारोह रखा गया था | पर शादी का कार्ड लीक होने के वजह से समारोह को रद्द करना पड़ा

इंडियन एक्सप्रेस (Indian Express) की रिपोर्ट के मुताबिक, इस शादी का कार्ड वॉट्सऐप (What's App) पर लीक होने के बाद कुछ लोगों ने इसे "लव जिहाद" का मामला बताते हुए इसका विरोध किया | यह समारोह 18 जुलाई को होना था लेकिन विरोद के चलते अब इसे रद्द कर दिया गया है |

नवविवाहित दंपति परिवारों की मौजूदगी में मई महीने में नासिक अदालत के समक्ष अपनी शादी का पंजीकरण भी करा चुका है

 दुल्हन के पिता स्थानीय रूप से जाने-माने जौहरी हैं और उनके परिवार ने अपनी विशेष रूप से सक्षम बेटी के लिए एक उपयुक्त वर खोजने के लिए संघर्ष किया था लेकिन जब उनकी बेटी और उसके साथ पढ़ चुके एक दोस्त ने एक-दूसरे से शादी करने की इच्छा जताई तो दोनों परिवार सहमत हो गए | दोनों परिवार एक-दूसरे को बीते कुछ सालों से जानते हैं

एक स्थानीय अदालत ने इस शादी का पंजीकरण होने के बाद दोनों पक्षों ने 18 जुलाई को एक पारिवारिक समारोह करने की सहमति जताई, जिसमें दोनों पक्षों के निकट संबंध शामिल होने वाले थे | बता दें कि, 18 जुलाई को होने वाले इस पारिवारिक समारोह में कुछ हिंदू रीति-रिवाजों का पालन होना था

इस समारोह का निमंत्रण पत्र प्रिंट कराया गया लेकिन यह निमंत्रण पत्र वॉट्सऐप पर लीक हो गया जिसके बाद लड़की के पिता को अजनबियों सहित कई कॉल और मैसेज आए, जिनमें इस समारोह का विरोद किया गया और रद्द करने की मांग की गई

दुल्हन के पिता ने कहा कि नौ जुलाई को उनके समुदाय के सदस्यों ने उनसे मुलाकात की थी और इस समारोह को नहीं कराने की सलाह दी थी

दुल्हन पक्ष के परिवार के एक सदस्य ने बताया, समुदाय और अन्य लोगों की तरफ से बहुत दबाव पड़ना शुरू हो गया और इसलिए उन्हें इस शादी समारोह के आयोजन को रद्द करने का फैसला करना पड़ा

इसके बाद दुल्हन के पिता और उनके परिवार के सदस्यों ने स्थानीय सामुदायिक संगठन को एक पत्र भेजकर बताया कि समारोह को रद्द कर दिया गया है

नासिक के लाड स्वर्णकार संस्था के अध्यक्ष सुनील महल्कर ने कहा, उन्हें परिवार से एक पत्र मिला और उन्होंने बताया कि शादी को रद्द कर दिया गया है

बता दें कि इसी संस्था को पत्र लिखा गया था. हालांकि इस संबंध में परिवारों ने पुलिस का रुख करना पसंद नहीं किया. उन्होंने जोर देकर कहा है कि चाहे कुछ भी हो जाए, युवा दंपति को अलग होने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा

लव जिहाद : बता दें किलव जिहादहिंदूवादी संगठनों द्वारा इस्तेमाल में लाई जाने वाली शब्दावली है, जिसमें कथित तौर पर हिंदू महिलाओं को जबरदस्ती या बहला-फुसलाकर उनका धर्म परिवर्तन कराकर मुस्लिम व्यक्ति से उसका विवाह कराया जाता है | हालांकि, कई बार ऐसे घटनाये भी सामने आये है, जहाँ पर इसका गलत फायदा भी उठाया गया है

भारत एक विविधतापूर्ण देश है। यह विविधता में एकता की भूमि है जहां विभिन्न जीवन शैली और शिष्टाचार के लोग एक साथ रहते हैं। ऐसे में यहां अंतरधार्मिक और अंतरजातीय विवाह आम बात है। इन विवाहों को मान्यता देने के लिए अलग-अलग कानून भी बनाए गए हैं। इसके अलावा विभिन्न धर्मों के लिए व्यक्तिगत कानूनों का भी निर्माण किया गया है। जिनमें हिंदू विवाह अधिनियम 1955, मुस्लिम पर्सनल लॉ 1937, भारतीय ईसाई विवाह अधिनियम, पारसी विवाह और विवाह विच्छेद 1936 विशेष विवाह अधिनियम 1954 मुख्य हैं।  


Top