The Cover Logo

BJP पर ममता का आक्रोश, सत्ता से बाहर करने की दी धमकी !

News Editor Wednesday 21st of July 2021 at 04:45:42 PM Politics
BJP पर ममता का आक्रोश, सत्ता से बाहर करने की दी धमकी !

ममता बेनर्जी  और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस आज 21 जुलाई शहीद दिवस मना रही है !


कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी(Mamta Benerjee) और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस आज 21 जुलाई शहीद दिवस मना रही है | पार्टी के गठन के बाद से हर साल 21 जुलाई को शहीद दिवस के मौके पर हर साल की तरह इस साल भी ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला | उन्होंने कहा, "BJP के लोग तानाशाही चाहते हैं, वो कार्यक्रम आयोजित नहीं करने दे रहे हैं | त्रिपुरा में भी उन्होंने हमारे लोगों को रैली नहीं करने दिया, क्या ये लोकतंत्र है ? वे चुनाव बाद हिंसा पर चिल्ला रहे हैं, चुनाव बाद कुछ नहीं हुआ, वे देश की संस्थाओं को नष्ट कर रहे हैं |" 


"पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी ममता ने बीजेपी पर अटैक करते हुए कहा है कि अब खेला सभी राज्यों में होगा, जब तक कि बीजेपी को देश से हटा नहीं देते | हम लोग 16 अगस्त को खेला दिवस मनाएंगे | ममता ने कहा, मोदी सरकार को अपने मंत्रियों पर भी भरोसा नहीं है, वो एंजेसिंयो का गलत तरीके से इस्तेमाल करती है |"


ममता का ये भाषण दिल्ली, उत्तर प्रदेश और त्रिपुरा में पार्टी मुख्यालय के बाहर एलईडी टीवी पर सुना गया | इसके अलावा गुजरात के 32 जिलों में ममता के भाषण को लाइव टेलीकास्ट किया गया | ममता के इस अभियान को 2024 लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है

ममता बनर्जी हर साल 21 जुलाई को शहीद दिवस के रूप में मनाती हैं | 1993 में कोलकाता में युवा कांग्रेस की रैली में मारे गए 13 लोगों को याद करने के लिए यह मनाया जाता है, पार्टी के विस्तार को देखते हुए, टीएमसी ने बनर्जी के संबोधन को पूरे पश्चिम बंगाल में प्रसारित करने का फैसला किया और पहली बार तमिलनाडु, दिल्ली, पंजाब, त्रिपुरा और चुनाव वाले गुजरात और उत्तर प्रदेश जैसे अन्य राज्यों में भी प्रसारित किया गया.


तृणमूल कांग्रेस : तृणमूल सांसद सौगत रॉय ने दिप्रिंट को बताया कि पार्टी ने 5 जून को कोलकाता में अपनी संगठनात्मक बैठक के दौरान अपने नेशनल आउटरीच प्रोग्राम के विस्तार का फैसला किया

रॉय ने बताया, ‘कई विपक्षी नेताओं को कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया गया है. हम वहां भाषण देंगे | यह हमारा प्रमुख कार्यक्रम है और इस बार इसे पूरे भारत में पहुंचाया जाएगाउत्तर प्रदेश, गुजरात और असम जैसे राज्यों के कई विपक्षी दलों ने नेताओं ने उनके भाषण के प्रसारण के लिए हमसे संपर्क किया था | व्यवस्था स्थानीय इकाइयों की तरफ से की जा रही है. राष्ट्रीय स्तर पर हमारी पार्टी के विस्तार की दिशा में यह पहला कदम है|’

तृणमूल के राज्य महासचिव कुणाल घोष ने बताया कि इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पार्टी एक महीने से अधिक समय से काम कर रही है | उन्होंने कहा, ‘दीदी के भाषण के अलावा हमारे राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी भी भाषण देंगे. और हम अपना मुखपत्र जागो बांग्ला भी फिर से लॉन्च करेंगे |’

नाम जाहिर करने की शर्त पर तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि बनर्जी केंद्र सरकार की तरफ सेअवैध निगरानी’, ईंधन की कीमतों में वृद्धि और मोदी सरकार की अन्यअलोकतांत्रिक और असंवैधानिकनीतियों के खिलाफ बोलेंगी |’

उन्होंने बताया, ‘दीदी अगले हफ्ते चार-पांच दिन की यात्रा पर दिल्ली जाएंगी. वह विपक्ष के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगी | सोनिया गांधी से भी उनकी मुलाकात होने की संभावना है | राजनीतिक बैठकों के अलावा दीदी प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से मिलने का समय भी मांगेंगी

एक तरफ जहां तृणमूल कांग्रेस ने 1998 में अपनी स्थापना के बाद पहली बार शहीद दिवस कार्यक्रम भाजपा शासित राज्यों तक पहुंचाने का फैसला किया है, वहीं भगवा पार्टी की बंगाल इकाई ने राज्य में राजनीतिक हिंसा के दौरान मारे गए अपने कार्यकर्ताओं को श्रद्धांजलि देने के लिएशहीद दिवसकार्यक्रम की योजना बनाई है

बुधबार का दिन राष्ट्रीय राजनैतिक तोर पर बहुत खास होने वाला है | बुधबार को होगी बीजेपी और तृणमूल कोन्ग्रेस आमने सामने

Top